Gharelu Nuskhe

दांतों की इन समस्याओं का खुद से कर सकते है उपचार | Common Dental Problem Home Remedies in Hindi

वर्तमान समय में शायद ही कोई ऐसा शख्स हो जो दांतों की समस्याओ से परेशान न हो | आपको जानकर हैरानी होगी कि समूचे विश्व में लगभग 90 फीसदी लोग दांतों की समस्या से परेशान है | अब हर परेशानी के लिए चिकित्सक का दरवाजा खटखटाना तो सही नही है | ऐसे में सवाल उठता है कि क्या किया जाए ? दरिये नही  ! हम आपको यहा दांतों की दिक्कतों का जिक्र करेंगे जिसका उपचार आप स्वयं कर सकते है आइये इन्हें जाने |

01 मुंह से बदबू

नियमित दांत न साफ़ करने से यह बीमारी उत्पन्न होती है अत: हमेशा ध्यान रखे कि दांतों को नियमित साफ़ करे | इसके अलावा खानपान पर भी विशेष ध्यान दे | दंत विशेषज्ञों की माने तो कच्चे आहार दांतों के स्वास्थ्य के लिए उपयुक्त होते है इसमें आप गाजर और मुली जैसी सब्जिया शामिल कर सकते है |

02 मसुडो से खून निकलना

कई बार ब्रश के दबाव से भी मसुडो से खून निकलने लगता है | मसूडो का स्वास्थ्य हमारे दांत की आयु तय करते है | मतलब यह कि ब्रश का चयन करते वक्त ध्यान रखे कि वह नर्म हो | बावजूद इसके अगर खून निकलना बंद न हो तो इसकी अन्य वजहे हो सकती है इसके लिए बेहतर है चिकित्सक से सम्पर्क करे |

03 सेंसिटिव दांत

आजकल यह बीमारी भी कुछ आम हो चली है बढ़ते विज्ञापन इस बाद की तस्दीक देते है बहरहाल अगर ज्यादा ठंडा या गर्म खाने से दांत में चीस मचती है तो यह भविष्य में बड़ी परेशानी का सबब बन सकते है | ऐसे में आप दांतों को रोज दो बार अवश्य ब्रश करे | कुछ भी खाने के बाद कुल्ला करे | यही नही सख्त ब्रश का इस्तेमाल से बचे | सबसे अहम अपना टूथपेस्ट बदले |

04 तलवो में छाले

अब आप सोच रहे होंगे कि इसका भला दांतों से क्या संबंध है ? वास्तव में इनका बहुत गहरा संबंध है | तलवो में लगे छाले से टिश्यू कमजोर हो जाते है जिससे मुह में इन्फेक्शन होने का खतरा बना रहता है | इन्फेक्शन हमारे दांतों  की सेहत को डावाडोल कर सकते है | ऐसे में जरुरी है कि तलवो में लगे छालो का उपचार किया जाए | मिर्च खाने से बचे ताकि आराम मिले | बेहद गर्म चीजे खाने से भे परहेज करे |

05 पायरिया

इसे आप कई बीमारियों का मिश्रण कह सकते है मुंह से बदबू आना , मसुडो में सुजन और खून निकलने की बीमारी को पायरिया कहते है | इस बीमारी के तहत कुछ भी चबाने की स्थिति में मुंह में दर्द होता है यहाँ तक कि दांत हिलने की शिकायत भी हो सकती है | कहने का मतलब है कि पायरिया दांतों की एक खतरनाक बीमारी है | सवाल उठता है कि इसे कैसे रोका जाये ? सबसे पहले यह जाने कि यह बीमारी क्यों होती है ?

इसके पीछे मुख्य रूप से एक ही वजह छिपी है यह है दांतों की नियमित सफाई न करना | दांतों की सफाई अत्यंत आवश्यक है | अगर जरूरत हो तो डेंटिस्ट के पास जाकर क्लीनिंग करवा सकते है बेहतर होगा कि पायरिया के लक्षण दीखते ही दांतों के प्रति सजग हो जाये और दिन में दो बार अवश्य सफाई करे | खानपान का ख्याल ररखे |

06 दांतों का घिसना

यह बड़ी अजीब बीमारी है इसमें अक्सर लोग रात को सोते वक्त गुस्से या तनाव में दांत पीसते है इससे दांत घिसने लगते है जो कि भविष्य में बड़ी समस्या का रूप धारण कर सकते है इससे बचाव के लिए आप नाईटगार्ड का इस्तेमाल कर सकते है |

07 जीभ का घाव

जीभ की समस्या तलवो की समस्या से मिलती जुलती है | जीभ में घाव होने के कारण अक्सर हम खाना चबाकर नही खाते | इससे होता यह है कि दांतों के कोने कोने में खाद्य पदार्थ लगे रह जाते है \दर्द के कारण ठीक से कुल्ला भी नही कर पाते है | जिससे मुंह से बदबू की शिकायत हो सकती है | ऐसे में जरुरी है कि जीभ की समस्या से निदान खोजे | घाव पर मरहम लगाये | चिपचिप पदार्थ कम इ और हर सम्भव स्थिति में कुल्ला करे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *