Gharelu Nuskhe

मुंह के छालो के लिए घरेलू उपचार | Mouth Ulcers Home Remedies in Hindi

Mouth Ulcers Home Remedies in Hindi

Muh ke chalo ka Gharelu Upchar

मुंह में छाले होना सर्व सामान्य है | यह रोग नही अपितु लक्षण है जो अन्य किसी बीमारी या समस्या की ओर संकेत करते है | मुंह में छाले किसी को भी हो सकते है |किसी को वर्ष में एक बार तो किसी अन्य को हर कुछ दिन बाद हो जाते है | यह बच्चे ,बड़े ,बुढो सबको अलग अलग कारणों से हो सकते है किन्तु कुछ लोग ऐसे भी होते है जिन्हें छाले नही के बराबर होते है या होते ही नही | मुंह में छाले होने पर व्यक्ति कुछ भी खा एवं निगल नही सकता है | उसे गर्म चीजे खाने से , पानी पीने या बोलने में भी तकलीफ होती है | यह इतना कष्टकर होता है कि पीड़ित व्यक्ति का सुख चैन सब छीन लेते है | इसको लेकर भ्रान्तिया भी है |

घरेलू अनुभूत उपायों ,नुस्खो की भरमार है | मुंह के छाले जिन्हें मुखपाक भी कहा जाता है | इसकी जलन एवं वेदना से राहत जल्द नही मिल पाती है | इसकी पहचान बहुत सरल है | यह मुंह के भीतर की त्वचा या जीभ में कही हल्का खड्डा जैसे दीखते है | ये छाले सफेद ,भूरे ,लाल घेरे से घिरे होते है | कभी कभी इन पर झिल्ली जैसी संरचना भी ढकी होती है | यह छाले मुंह के भीतर ओंठ ,गालो की भीतरी भाग में , जीभ में किसी भी तरफ हो जाते है | यह कभी कभी इतना क्रूर रूप धारण कर लेते है कि व्यक्ति दर्द से बिलबिला जाता हाउ |पीड़ा से आँखे छलक जाती है | दर्द एवं लक्ष्ण के माध्यम से आम और ख़ास सभी जान सकते है | इसके होने के अनेक कारण है |

मुंह के छालो के कारण |

  • यह विटामिन B एवं C की कमी से होते है |
  • ये पेट साफ़ न रहने ,कब्ज एवं आमाशय की अक्षमता के कारण होते है |
  • ते ज्यादा गर्म चीजो के खाने या पीने से होते है |
  • ये दवाओं की अधिकता के कारण होते है |
  • ये संक्रमन के कारण होते है |
  • ये ज्यादा चुना वाले पान खाने से होते है | ज्यादा शक्कर खाने से भी होते है |
  • ये मुंह एवं दांत , जीभ की अच्छी तरह सफाई नही करने से होते है |
  • धुम्रपान की अधिकता से होते है |
  • पायरिया ,बुखार ,स्कर्वी ,संग्रहनी , रक्तहीनता आदि रोग एक रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमी होने पर होते है |
  • दूषित जल एवं भोजन , पोषक शून्य भोजन या बिना भूख लगे जल्द से जल्द खाने से भी होते है |
  • ये कैल्शियम एवं खनिज तत्वों के अभाब में भी होते है |
  • एलर्जी , खसरा ,रक्त विकार आदि के कारण भी होते है |
  • गर्म चीजो के अलावा बर्फ ,चॉकलेट ,च्युइंगम ,कफवर्धक चीजो खराब दूध की बोतल ,तली चीजो तम्बाकू एवं मांसाहार से भी होते है |

बचाव के उपाय

उपचार की सभी विधियों में इनकी अनेक दवाईया है | घरेलू उपाय और अनुभूत नुस्खे भी है फिर भी कुछ सावधानियो एवं उपाय सभे पीड़ित व्यक्ति को करने चाहिए ताकि भविष्य में यह आगे न हो |

  • हर हाल में पेट को साफ़ रखे | हाजत न रोके | कब्ज न होने दे | अमाशय की सक्रियता को बनाये रखे |
  • भूख लगे तभी भोजन करे | भोजन ताजा हो |ठंडा या तेज गर्म न हो |
  • भोजन आराम से चबा चबा के रके | मात्र संतुलित हो |भोजन पौष्टिक हो |
  • भोजन में पर्याप्त मात्रा में सलाद ,सूप ,मौसमी फल ,सब्जी भाजी पर्याप्त हो |
  • दिन भर में दस बारह गिलास पानी पिए |
  • दूध बिना मलाई का ले | अवसर मिले तब दही या रायते का सेवन करे |नीम्बू का पानी पिए |
  • पान तम्बाकू ,गुटखा , धुम्रपान ,नशापान त्याग दे |
  • नमक , शक्कर ,मिर्च मसाला तली चीजे कम खाए |
  • मुंह , दांत , जीभ की नियमित दो बार सफाई करे |
  • बाजार की चीजो ,दूषित जल ,मिलावटी चीजो एवं नकली रंग से बचे |
  • जंक फ़ूड ,कोल्ड ड्रिंक्स एवं बाजार के जूस का उपयोग न करे |
  • संक्रमित एवं प्रदूषित स्थानों पर न जाए |

छालो के लिए घरेलू उपचार | Mouth Ulcers Home Remedies in Hindi

  • छालो में गाय या भैंस का घी छालों पर उंगली से लगाये |
  • टमाटर का रस पानी में मिलाकर उसके गरारे करे |
  • शहद को छालो पर पर दर्द से राहत मिलती है |
  • अंजीर के पेड़ से कच्चे अंजीरो का दूध इकट्ठा करके छालो पर लगाये |
  • साबुत धनिया को पीसकर चूर्ण बना ले | फिर इसके चूर्ण को छालो पर बुररकर लार को नीचे गिरादे
  • जायफल को पानी में घिसकर उंगली से जीभ तथा तालू पर लेप करे |
  • बेर के पत्तो को पानी में उबालकर उससे कुल्ला करना चाहिए |
  • aअरहर की पत्तियों को चबाकर ठुक थूक दे | लार को पेट में जाने दे |
  • मौल सिरी के पेड़ की छाल को पानी में उबालकर उससे कुल्ला करे |
  • आंवले का चूर्ण सुबह शाम 5-5 ग्राम की मात्रा में गर्म पानी से ले |
  • तुलसी और नीम के पत्ते चबाकर लार नीच टपकाने से मुह के छाले ठीक होते है |
  • दो चमच्च शहतूत का शरबत ताजे पानी में डालकर गरारे करे |
  • लाल इलायची के छिलकों को सुखाकर पीसकर उसके चूर्ण को पानी में पेस्ट बनाकर छालो पर लगाये |

वैसे छाले इन सभ घरेलू नुस्खो से ठीक हो जाते है फिर भी ज्यादा परेशानी होने पर चिकित्सक के पास जाए | शुगर एवं BP के डॉक्टर को अपनी बीमारी भी बताये | अधिक दवाओं का उपयोग न करे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *